टमाटर की बढ़ती कीमतों (Tomato Price) से आम जनता काफी परेशान है. केंद्र सरकार ने महंगे टमाटर के मोर्चे पर राहत दी है. सरकार ने कहा है कि दिसंबर तक टमाटर के भाव में गिरावट आ जाएगी. दिसंबर में टमाटर की खेप बाजार में पिछले साल के अनुरूप ही आयेगी, जिससे कीमतों में कमी आने की उम्मीद है. उत्तर भारतीय राज्यों से पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित की गई है, जिससे उपलब्धता बढ़ने के साथ कीमतों में गिरावट आयेगी.

#TomatoPriceRise #Tomato #Inflation

बेमौसम बारिश का दिखा असर
सरकार की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, टमाटर का अखिल भारतीय खुदरा औसत मूल्य बेमौसम बारिश की वजह से पिछले साल की तुलना में 63 फीसदी से बढ़कर 67 फीसदी पर पहुंच गया है. फिलहाल दिसंबर में टमाटर की आवक पिछले साल के बराबर रहने की उम्मीद है. वहीं प्याज के मामले में, खुदरा कीमतें वर्ष 2020 और वर्ष 2019 के स्तर से काफी नीचे आ गई हैं.

मंत्रालय मे दी जानकारी
खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक “देश के उत्तरी राज्यों से टमाटर की आवक दिसंबर के शुरुआत से ही आने लगेगी, जिससे उपलब्धता बढ़ जाएगी और कीमतों में राहत मिलेगी. इस साल नवंबर महीने में टमाटर की आवक 19.62 लाख टन रही थी. वहीं, एक साल पहले समान अवधि की बात करें तो उस समय यह आवक 21.32 लाख टन थी.

सितंबर से ही बढ़ रहे हैं रेट्स
मंत्रालय ने आगे बताया कि पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में बिना मौसम की बारिश की वजह से सितंबर के आखिर से ही टमाटर की खुदरा कीमतें बढ़ना शुरु हो गई थीं. उत्तर भारतीय राज्यों से देरी से आवक के बाद तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में भारी बारिश हुई, जिससे आपूर्ति बाधित हुई और फसल को भी नुकसान हुआ.

चेक करें टमाटर के लेटेस्ट रेट्स
इस समय टमाटर के लेटेस्ट रेट्स की बात करें तो राजधानी दिल्ली में 1 किलो टमाटर की कीमत 60 से 90 रुपये है. वहीं, बेंगलूरु में यही टमाटर 110 रुपये प्रति किलो के हिसाब से मिल रहा है. मुंबई में टमाटर का भाव 80 रुपये और चेन्नई में 160 रुपये प्रति किलो है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here